चंद्रमौलेश्वर जी - उनका संदेसा उनके जाने के बाद आया!


ख़ुशी का झोंका आंसुओं को साथ लाया।
उनका संदेसा उनके जाने के बाद आया।


आज अचानक अपने इस ब्लॉग का कमेन्ट 'स्पैम फोल्डर' चेक कर रहा था दो देखा हैदराबाद के प्रमुख ब्लॉगर चंद्रमौलेश्वर जी, जिनका देहांत पिछले महीने की 9 तारिख को हुआ है, की नए साल की मुबारकबाद वाली टिप्पणी वहां पड़ी हुई है...





आँखों में आंसू भर आये - उनकी शुभकामनाएँ मुझे उनके इस दुनिया से चले जाने के बाद मिली...


आपकी टिप्पणियाँ आपकी याद दिलाती रहेंगी चंद्रमौलेश्वर जी...

आपकी राय:

8 comments:

  1. rachni di ne ek blog banaya hai 'bichre blog-privar ke'. wahan kuch likh na saka. wahan guruwar amar...chachha c.m aur ..... bachha adi
    ki yaad????????? rula gaya tha......

    sadar.

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी सञ्जय जी, वोह वाकई बहुत अच्छा प्रयास है...

      Delete
  2. प्रसाद जी का वादा अधूरा ही रह गया . उन्होंने कहा था , कीमो के बाद फिर आयेंगे .
    उनको बहुत मिस करते हैं ब्लॉग पर .

    ReplyDelete
  3. स्व. चन्द्र मौलेश्वर प्रसाद जी को श्रद्धांजलि!

    ReplyDelete
  4. unka dehant 12 sitambar ko hua tha meri bhi shradhdhanjali

    ReplyDelete
  5. आपकी इस उत्कृष्ट प्रस्तुति की चर्चा कल मंगलवार ९/१०/१२ को चर्चाकारा राजेश कुमारी द्वारा चर्चामंच पर की जायेगी

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत-बहुत शुक्रिया राजेश कुमारी जी...

      Delete
  6. स्व. चन्द्र मौलेश्वर प्रसाद जी को श्रद्धांजलि!इन्सान रहे न रहे शब्द कभी नही मरते।

    ReplyDelete