बेचारे ड्राइवर रहते हैं चौबीस घंटे बस में :-)


एक यात्री ने उत्सुक्तावश  ड्राइवर से मालूम किया: 

ड्राइवर साहब आप बस में कितने घंटे रहते हैं?




ड्राइवर भी हाज़िर जवाब था, फट से यात्री से बोला: 

चौबीस घंटे।



यात्री ने हैरानगी दिखाते हुए मालूम किया:

यह कैसे संभव है?



ड्राइवर फट से बोला:

मित्र, आठ घंटे सरकार की बस में और सौलह घंटे पत्नी के बस में!
आपकी राय:

9 comments:

  1. सही जबाब दिया ड्राइवर ने|
    लम्बे रूटों पर चलने वाली बसों के ड्राइवर तो बेचारे चौबीस घंटे सरकारी बस में ही रहते है,उन्हें तो सोना भी बस में ही पड़ता है| सराय काले खां बस अड्डे पर रात को बसों पर सोते कई ड्राइवर कंडक्टर नजर आ जायेंगे|

    ReplyDelete
  2. अपने भी सोलह घंटे तो बस में ही निकलते हैं।

    ReplyDelete
  3. बढ़िया पोस्ट ....

    ReplyDelete
  4. हाय हाय ! हम भी चौबीस घंटे वाली पालटी हैं जी घर से दफ़्तर तक हर जगह श्रीमती जी के बस में ही रहना होता है :)
    ये आपने शब्द पुष्टिकरण क्यों लगा रखा है जी

    ReplyDelete
  5. हा हा हा ! यानि पहले सरकार की नौकरी , फिर घर की सरकार की चाकरी ।

    इस मिर्ची को हटाओ भाई ।

    ReplyDelete
  6. आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर भी की गई है!
    अधिक से अधिक लोग आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

    ReplyDelete
  7. सही जबाब|धन्यवाद|

    ReplyDelete